MLM chitfund Scams चिट फंड कंपनियों की ठगी रोकने में सरकार नाकाम।

Fraud Company News MLM Law नई दिल्ली । पश्चिम बंगाल में सारधा चिट फंड नाम की कंपनी ने साबित कर दिया है कि भोले भाले निवेशकों को लूटने वाली कंपनियों पर लगाम लगाने में न तो राज्य सरकारें कुछ कर पा रही हैं और न ही केंद्र। पिछले तीन वर्षो के भीतर निवेशकों को चूना लगाने की देश भर में लगभग दर्जन भर घटनाओं के सामने आने के बाद भी केंद्र सरकार सख्ती नहीं दिखा पा रही है। हालत यह है कि वित्तीय अपराध करने वाली इन कंपनियों की छानबीन के लिए गठित गंभीर धोखाधड़ी जांच विभाग [एसएफआइओ] में नियुक्ति की कोई नीति भी नहीं तैयार हो सकी है। एसएफआइओ में अधिकांश

पद खाली पड़े हैं। एसएफआइओ को मजबूत बनाने का जो वादा 14,000 करोड़ रुपये के सत्यम घोटाले के बाद किया गया था, वह सरकारी दफ्तरों में धूल खा रहा है। यह देश में सबसे बड़ा कॉरपोरेट घोटाला था। एक तरफ एसएफआइओ पर इस तरह के वित्तीय घपलों की जांच करने का दबाव बढ़ता जा रहा है, जबकि उसके पास जांच अधिकारियों की नितांत कमी है। कंपनी कार्य मंत्रालय [एमसीए] के आंकड़ों के मुताबिक एसएफआइओं के कानूनी विभाग में आवश्यकता के महज 10 फीसद कर्मचारी ही कार्यरत हैं। प्रशासनिक स्तर के 40 फीसद पद खाली पड़े हुए हैं। एमसीए की तरफ से अभी तक इन खाली पदों को भरने की कोई नीति ही तैयार नहीं की जा सकी है

हाल के वर्षो में एक के बाद एक कई बड़े वित्तीय फ्रॉड सामने आए हैं, जिनमें आम निवेशकों की गाढ़ी कमाई लूट ली गई है। पश्चिम बंगाल में काफी प्रचलित सारधा चिट फंड का भांडा फूटने के बाद इसके एक निवेशक और एक एजेंट आत्महत्या कर चुके हैं। दो वर्ष पहले स्पीक एशिया का फ्रॉड सामने आया है। कुछ ही महीने पहले स्टॉक गुरू नाम से चिट फंड कंपनी चलाने वाले एक दंपत्ति को भी गिरफ्तार किया गया है। इस दंपत्ति ने लगभग 500 करोड़ रुपये की धोखाधड़ी की हुई है। इसके अलावा मल्टी लेवल मार्केटिंग, स्वर्ण स्कीमों से जुड़े कई फ्रॉड भी सामने आए हैं। स्पीक एशिया और स्टॉक गुरू के निवेशक अभी तक भटक रहे हैं।जब भी ऐसे मामले सामने आते हैं कि केंद्र सरकार की तरफ से कुछ सरगर्मी दिखाई जाती है और एसएफआइओ को मजबूत करने की बात कही जाती है, लेकिन हकीकत में कुछ नहीं होता। कई बार यह बताया गया है कि एसएफआइओ ऐसे फ्रॉड को समय पर पहचाने का तरीका तैयार कर रहा है। लेकिन इस बारे में अभी तक कुछ ठोस प्रगति नहीं हुई है। Read more… Source-Jagran22april MLMnewsindia.com 

Written by Editor in Chief

Tags: 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

%d bloggers like this: