इंडस्ट्री के टॉप एग्जिक्यूटिव्स को लुभा रही हैं ऑनलाइन कंपनियां

Dec  नई दिल्ली-  गुड़गांव के ऑनलाइन हेल्थ स्टोर हेल्थकार्ट ने फार्मविल के पूर्व अधिकारी गौरव अग्रवाल को अपना चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर और प्रॉडक्ट्स डिवीजन का हेड बनाया है।  35 साल के अग्रवाल इससे पहले फार्मविल में जनरल मैनेजर थे। सोशल नेटवर्क गेम फार्मविल को सिलिकॉन वैली की गेमिंग डेवलपर जिंगा ने लॉन्च किया था। अग्रवाल हेल्थकार्ट की प्रॉडक्ट्स डिवीजन को हेड करेंगे। वह कंपनी की वेब और मोबाइल इनिशिएटिव्स पर खासतौर से फोकस करेंगे। हेल्थकार्ट
 मालिक और उसे चलाने वाली ब्राइट लाइफकेयर के को-फाउंडर प्रशांत टंडन ने कहा कि अग्रवाल हेल्थकेयर के कंज्यूमर सेगमेंट पर फोकस करेंगे और कंपनी में कामकाज की बेहतरीन ग्लोबल कार्यशैली का समावेश करेंगे।

यह हाई प्रोफाइल हायरिंग ऐसे वक्त हुई है, जब भारतीय इंटरनेट कंपनियां अपनी ग्रोथ स्ट्रैटेजी को धार देने के लिए टॉप एग्जिक्यूटिव्स को अपने साथ जोड़ रही हैं। कई कंपनियां अच्छा प्रॉफिट हासिल कर रही हैं और मार्केट पर लिस्ट होने की तैयारी में हैं। पिछले साल ई-कॉमर्स कंपनी फ्लिपकार्ट ने याहू! इंडिया में काम कर चुकीं अपर्णा बालाकौर को अपने ह्यूमन रिसोर्सेज डिवीजन का हेड बनाया था। हाल के दिनों में आईआईटी में टॉप रिक्रूटर के रूप में उभरकर फ्लिपकार्ट चर्चा में रही। बंगलुरु और सैन फ्रांसिस्को से काम करने वाली मोबाइल ऐड नेटवर्क कंपनी इनमोबी ने संदीप देशपांडे को अपना कंट्री जनरल मैनेजर बनाया, जो इससे पहले याहू!, अलीबाबा और रीडिफ में काम कर चुके हैं।
पिछले दो साल से ज्यादा वक्त से ग्रोथ मोड में दिख रही हेल्थकार्ट ने इंटेल कैपिटल और सिकोइया कैपिटल से अब तक 1 करोड़ 40 लाख डॉलर जुटाए हैं। हेल्थकार्ट की स्थापना स्टैनफोर्ड और हार्वर्ड बिजनेस स्कूल के ग्रेजुएट्स टंडन और समीर महेश्वरी ने साल 2011 में की थी। कंपनी पहले फिजिशियंस को मैनेजमेंट सॉफ्टवेयर देती थी और अब कंज्यूमर्स को हेल्थकेयर प्रॉडक्ट्स की डायरेक्ट रिटेलिंग करती है। औसतन डेढ़ हजार से दो हजार रुपये के बीच के करीब 50 हजार मंथली ट्रांजैक्शंस के साथ कंपनी की मंथली इनकम साढ़े सात से 10 करोड़ रुपये मानी जा रही है। अग्रवाल ने कहा कि हेल्थकार्ट की ग्रोथ स्टोरी बहुत अच्छी रही है और अब यह अपने गोल की ओर तेजी से बढ़ रही है।
हेल्थकार्ट ने हाल में हेल्थकार्टप्लस के नाम से मई में ड्रग रिसर्च मार्केटप्लेस लॉन्च किया था। यह इसकी ग्रोथ का नया दरवाजा खोल सकता है। टंडन के अनुसार, कंपनी को करीब 20 लाख यूनीक यूजर विजिट्स मिलती हैं और इसने iOS और एंड्रॉयड प्लेटफॉर्म्स पर अपने मोबाइल एप्प भी लॉन्च किए हैं। अग्रवाल ने कहा कि हमें यह सुनिश्चित करना होगा कि हमारी साइट पंक्चुअल और एवलेबल रहे। यूजर्स अपने मोबाइल डिवाइसेज से आसानी से ब्राउजिंग और ट्रांजैक्शंस कर सकें। source -navbharttimes.com

Written by Kinjalk Tiwari

Tags: 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

%d bloggers like this: