TISCA Holdings Scam – महिला मित्र की मदद से छुपायी करोड़ों की रकम !

लखनऊ । टिस्का और परशिष्ट इंडस्ट्री प्रा.लि. की ठगी की रकम महिला के जरिए छिपाई गई थी। मामले की जांच में पुलिस को पता चला है कि आरोपित राजेश ने एक महिला मित्र के जरिए काफी रुपए छिपाए थे। उसी महिला के नाम संपत्ति भी खरीदी। पुलिस को यह सूचना भी मिली है कि आरोपित राजेश और नदीम ऑफिस में खूबसूरत लड़कियों को नौकरी देते थे, ताकि उनके जरिए लोगों को फंसाया जा सके । 
विभूतिखंड के शालीमार टाइटेनियम टावर में टिस्का होल्डिंग और परशिष्ट कंपनी का ऑफिस खोल कर करोड़ों की ठगी का
खेल किया गया। कंपनी के निदेशकों ने जमीन की खरीद-फरोख्त में 15 से 20 प्रतिशत मासिक ब्याज देने का झांसा दिया था। दोनों कंपनियों की स्कीमों में हजारों लोग फंसे थे। इन फ्रॉड कंपनियों के खिलाफ अब तक करीब 70 मुकदमे दर्ज हो चुके हैं।
टिस्का और परशिष्ट में निवेश करने वाले पीड़ितों व कुछ करीबियों ने पुलिस को बताया कि आरोपित राजेश राठौर का एक सहयोगी आगरा में रहता है। उस सहयोगी के परिवार की एक युवती राजेश की करीबी थी। वह युवती भी आगरा में ही रहती है। सूत्रों के मुताबिक राजेश के परिवारीजन कुछ दिन आगरा में भी छिपे थे। मामला तूल पकड़ने पर वहां से कहीं निकल गए। पुलिस अब उस महिला मित्र व सहयोगी की तलाश में जुटी है। पुलिस की एक टीम उनकी धरपकड़ के लिए आगरा भी गई हुई है।

एक लाख था महिला का वेतन!
राजेश व नदीम के झांसे में आकर रुपए गंवाने वाले पीड़ितों ने बाताया कि कंपनी में काम करने वाली एक महिला कर्मचारी को एक लाख रुपए महीना वेतन तक दिया जाता था। उसी महिला कर्मचारी को कंपनियों के कई राज पता हैं। पीड़ितों का कहना है कि महिला कर्मचारी से पूछताछ की जाए तो अहम सुराग हाथ लग सकते हैं। वहीं पुलिस इस बारे में भी पड़ताल कर रही है कि राजेश व नदीम ने किसी कंपनी में करोड़ों रुपए निवेश किए हैं। निवेश की कई रकम का करीब दोगुना 2014 में आरोपितों को मिलना है । Source- Navbharattimes Indiatimes.com MLMPromoters.com mlmguru.in

Written by Editor in Chief

Tags: , , , , , , , ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

%d bloggers like this: