Engel Agritech Limited द्वारा १२ करोड़ रुपये समेटकर फरार हुई तेघड़ा से कम्पनी।

eng तेघड़ा /बिहार एंजिल एग्रीटेक लिमिटेड चिटफंड कम्पनी द्वारा १२ करोड़ गबन के मामले में छापामारी लगातार की जा रही है। इस मामले में अबतक तीन लोगो की गिरफ्तारी हो चुकी है। गिरफ्तार लोगो में तेघड़ा थाना क्षेत्र के दनियालपुर मियांजी टोला निवासी मो सज्जाद ,पश्चिम बंगाल के हुगली जिला निवासी आंग्धा सेन और समस्तीपुर जिला के विद्यापति नगर थाना क्षेत्र निवासी हरेंद्र सिंह हरि शामिल है।
प्राप्त जानकारी के अनुसार वर्ष २०१२ में पश्चिम बंगाल के कोलकाता की एंजिल एग्रीटेक लिमिटेड नामक नन बैंकिंग कम्पनी ने तेघड़ा बाजार स्टेशन रोड पर पुराने ब्लाकॅ में नंद किशोर सिंह के मकान में कम्पनी द्वारा अपना कार्यालय खोला इसके बाद मो सज्जाद द्वारा पैसे वसूली हेतु कार्यकर्ताओ को जोड़कर दैनिंक व मासिक वसूली की स्कीम की शुरूआत के साथ लोगो को लुभावने प्रलोभन का लालच भी दिया।
वर्ष २०१३ में कम्पनी का रवैया में परिवर्तन होने लगा जिसके कारण मैच्योरिटी के पैसे नही मिलने के कारण कार्यकर्ताओं में रोष पैदा होने लगा।
और कम्पनी द्वारा ३० अप्रैल २०१३ को कार्यलय बंद कर दिया गया। इसके बाद बरौनी थाना क्षेत्र के नूरपुर निवासी हरदेव शाह के पुत्र पप्पू कुमार ने तेघड़ा थाने में प्राथमिकी दर्ज करायी और मामले में कम्पनी के सीएमडी कोलकाता के शेख हसीबुल हक ,निर्देशक व कोलकाता निवासी शेख नजीमुल्लाह व सुनीरमल गोस्वामी ,मुख्य शेयर धारक व कोलकाता निवासी जबीना जहां क्षेत्रीय मैनेजर बबलू पासवान और हरिंद्र कुमार हरि जीएम आग्धा सेन मैनेजर सुर्यकांत राय आदि को ठगी का पैसा गबन करने के आरोप में नामदर्ज रिपोर्ट की गई है।
इस मामले पर तेघड़ा थाना एसआई दिनेश साहू व पुलिस बल ने मो सज्जाद को तेघड़ा से गिरफ्तार कर जेल भेजा था और जीएम आग्धा सेन को कोलकाता व क्षेत्रीय मैनेजर हरिंद्र कुमार हरि को जीआरपी बरौनी की मदद से बरौनी जंक्शन पर से गिरफ्तार कर जेल भेज दिया इधर एसआई दिनेश साहू ने बताया कि गिरफ्तार अभियुक्तो के मुताबिक वे सभी कार्यशील व्यक्ति थे तथा जमा कि जाने वाली सभी राशि सीएमडी शेख हसीबुल हक़ के खाते में ही जमा की जाती थी। कम्पनी

Written by Editor in Chief

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

%d bloggers like this: