Glaze Trading India के फ्रेंचाइजी पर राज्य सरकार द्वारा गठित कमेठी का छापा।

Chitfund 4u अंबिकापुर चिटफंड कम्पनीयो पर रोक लगाने के लिए गठित कमेठी द्वारा प्रतापपुर नाका स्थित नेटवर्क मार्केटिंग कम्पनी ग्लेज़ ट्रेडिंग की फ्रेंचाइजी प्रियदर्शी एसोसिएट ने दबिश दी। यहाँ बेरोजगार युवक युवतियों से रकम वसूली का मामला सामने आया है। कम्पनी के उत्पादों का सैंपल लेकर दल ने संचालक और सदस्य बने बेरोजगार युवको का बयान भी दर्ज कर लिया है।
इस मामले में कम्पनी संचालक को तीन दिन के भीतर जबाब प्रस्तुत करने का निर्देश दिया गया है। कम्पनी के फ्रेंचाइजी कार्यलय में लगभग एक करोड़ के बगैर आईएसआई मार्क वाले कॉस्मेटिक प्रोडेक्ट और कपडे तथा जैविक खाद भंडारित है। संस्था को सील कर एसडीएम ने मामले की जाँच गम्भीरता से करने की बात कही है। डायरेक्ट सेलिंग /नेटवर्क मार्केटिंग कम्पनी ग्लेज़ ट्रेडिंग इंडिया प्रायवेट लिमिटेड का करोबार वर्ष २०१२ से अंबिकापुर में संचालित हो रहा है
इसके बाद बिहार के नवादा जिला के अंतर्गत बलियारी निवासी अनिल मांझी नामक व्यक्ति द्वारा प्रियदर्शी एसोसिएट के नाम का नेटवर्क मार्केटिंग का जाल बिछाया गया। पिछली दो बार पुलिस द्वारा छापे मारे गए लेकिन कोई परिणाम सामने नहीं आया जिसके चलते कम्पनी का काम धड़ाके से जारी है।
राज्य सरकार द्वारा जिला प्रशासन चिटफंड कम्पनियो के खिलाफ कार्यवाही और जाँच हेतु कमेटी का गठन किया गया है।
कमेठी में शामिल एसडीएम एनएस भगत ,सीएसपी पंकज शुक्ला ,जिलाकोषलय अधिकारी एल मिंज ,उपपंजीयक सहकारी संस्था अल्पबचत अधिकारी के साथ नगर निरीक्षक फरहान कुरैशी और गांधीनगर थाना प्रभारी नरेश कुमार चौहान ने टीम के साथ मिलकर दोपहर ग्लोबल ग्लेज़ फ्रेंचाइजी कार्यालय प्रियदर्शी एसोसिएट में दबिश दी उस समय बड़ी संख्या में बेरोजगार युवक युवतियाँ सदस्य बनने के लिए कार्यलय में मौजूद थे। प्रारंभिक जाँच पड़ताल के बाद एसडीएम एनएस भगत ने ग्लोबल ग्लेज़ कम्पनी के फ्रेंचाइजी संचालक अनिल मांझी को नोटिस जारी किया और तीन दिन के अंदर जबाब माँगा है की करोडो के करोबार के सम्बंध में उनके पास कौन से दस्तावेज है कार्यलय से जब्त कॉस्मेटिक उत्पादों के सैेपल भी जाँच के लिए भेज दिए गए है।

Written by Editor in Chief

Tags: ,

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

*
*

%d bloggers like this: